Downlod GS24NEWS APP
छत्तीसगढ़

अंतराष्ट्रीय नृत्य स्पर्धा मलेशिया में भारत का प्रतिनिधित्व कर कथक नृत्यांगना प्रीति चंद्रा ने एक बार फिर प्रथम आकर कोरबा शहर को किया गौरवान्वित

कोरबा. अंतराष्ट्रीय नृत्य स्पर्धा मलेशिया में भारत का प्रतिनिधित्व कर कथक नृत्यांगना प्रीति चंद्रा ने एक बार फिर प्रथम आकर कोरबा शहर को गौरवान्वित किया। नृत्य धाम कला समिति ‌ “देशराग ” 2023 (सह संयोजक वैदिक यूनिवर्सिटी फ्लोरिडा एवं हिंदुस्तान आर्ट म्यूजिक सोसायटी) सर्टिफाइड बाय आई. एस .ओ कंपनी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर गायन वादन नृत्य की प्रतियोगिता 4 से 8 जनवरी को मलेशिया में आयोजित की गई थी। इस प्रतियोगिता में कोरबा शहर की बेटी कथक नृत्यांगना प्रीति चंद्रा ने 5 जनवरी को अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन से प्रथम स्थान प्राप्त किया व आई.सी.सी.आर की डायरेक्टर द्वारा पुरस्कार से सम्मानित की गई। इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ से कथक नृत्य में गोल्ड मेडलिस्ट प्रीति ने यह उपलब्धि हासिल कर एक बार फिर अपनी प्रतिभा को साबित करने में सफल रही है। देश में ही नहीं विदेश में भी भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए अपनी जीत का परचम लहरा रही है। प्रीति ने मलेशिया में अपनी कथक प्रस्तुति में सर्वप्रथम दुर्गा स्तुति तथा ताल तीन ताल में बोल, परन ,चक्कर ,विशेषकर तत्कार , मयूर की चाल की प्रस्तुति से दर्शकों का मन मोह लिया तथा इस उपलब्धि से उन्होंने अपने माता-पिता का नाम रोशन करने के साथ-साथ हमारे छत्तीसगढ़ कोरबा शहर को गौरवान्वित किया है अपने जीत का श्रेय प्रीति अपनी माता – श्रीमती ममता चंद्रा जी तथा पिता श्री मदन लाल चंद्रा जी जो हमेशा उसे आगे बढ़ने की प्रेरणा प्रदान करते हैं तथा अपने गुरु ताल मणि मोरध्वज वैष्णव जी को देती हैं जिनके सानिध्य में ही अपनी कला को और निखार रही है ‌।वर्तमान में प्रीति प्रसिद्ध तबला वादक श्री मोरध्वज वैष्णव जी से कत्थक की प्रशिक्षण प्राप्त कर रही हैं। इन्होंने हाल ही में (कोलकाता ,पुणे, आगरा,दुर्ग ,भिलाई, कोरबा बिलासपुर) इनके अलावा कई प्रतिष्ठित मंच में सफल प्रस्तुति दे चुकी हैं, तथा इसी तरह कड़ी मेहनत कर आगे बढ़े रही हैं। आगे भी कत्थक के क्षेत्र में ही अपना करियर बनाना चाहती हैं।

 

 

Related Articles

Back to top button