Downlod GS24NEWS APP
छत्तीसगढ़

कलेक्टर ने ली साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक

जांजगीर-चांपा 13 दिसम्बर 2022/ कलेक्टर श्री तारन प्रकाश सिन्हा ने आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में सभी विभाग प्रमुखों की उपस्थिति में साप्ताहिक समय सीमा की बैठक लेते हुए सभी अधिकारियों को आमजनता के प्रति संवेदनशील रूख रखते हुए ईमानदारी पूर्वक कार्य करने कहा। उन्होंने कहा कि कई छोटे-छोटे कार्यों के लिए भी कई आमजनता को भटकना पड़ रहा है, जिसके निराकरण के लिए वे अपने आवेदन लेकर जनदर्शन में भी पहुंचते हैं। कलेक्टर ने सभी अधिकारियों को आमजनता के सभी छोटे-बड़े कार्याे को बिना लेटलतीफी के प्राथमिकता से और जिम्मेदारीपूर्वक करने की हिदायत दी। साथ ही उन्होंने जिले में संचालित विभिन्न विभागीय योजनाओं की जानकारी लेते हुए योजनाओं का जमीनी स्तर पर बेहतर क्रियान्वयन और निर्माण कार्याे में तेजी लाने के निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में संचालित कार्यों के लिए शासन द्वारा आबंटित राशि द्वारा प्राथमिकता के आधार पर निर्माण कार्यों को गुणवत्तापूर्ण और तेजी से करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही बैठक में कलेक्टर ने कहा कि जिले में रीपा प्रोजेक्ट, मल्टीएक्टिविटी, स्व सहायता समूह आदि के माध्यम से अनेक आजीविका मूलक गतिविधियां संचालित किये जा रहे हैं। उन्होंने सभी जनपद सीईओ को काम के अभाव में पलायन करने वाले लोगों की जानकारी रखते हुए पंचायतों में सचिव और रोजगार सहायक की बैठक लेकर पलायन करने वालों को जागरूक करने कहा।
समय-सीमा की बैठक में कलेक्टर ने विभागीय कामकाजों की समीक्षा करते हुए विभागवार समय सीमा के लंबित प्रकरणों की जानकारी ली। इसके साथ ही उन्होंने भेंट मुलाकात अभियान के दौरान प्राप्त आवेदनों, जनशिकायत, पीएमओ पोर्टल के लंबित आवेदनों की जानकारी ली तथा उनका निर्धारित समय सीमा में तेजी से निराकरण करने के निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर ने धान खरीदी कार्यों के निरीक्षण में लगे अधिकारियों से क्रमवार जानकारी ली तथा आगामी समय में धान खरीदी कार्यों में और तेजी आने की संभावना जताते हुए बैठक में उपस्थित सभी नोडल अधिकारी, खाद्य अधिकारी सहित संबंधित अधिकारियों को आवश्यक तैयारी सुनिश्चित रखे जाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने बैठक में उपस्थित सभी राजस्व अधिकारियों को समय पर कोर्ट लगाते हुए नामांतरण, बंटवारा आदि प्रकरणों का तेजी से निराकरण करने कहा। उन्होंने कहा कि जिले के सभी तहसीलों में पर्याप्त राजस्व अधिकारी-कर्मचारी पदस्थ हैं, इसलिए आमजनता के कार्यों को बिना अनावश्यक विलंब किए तेजी से निराकरण करें।
इसके साथ ही बैठक में कलेक्टर ने जिले के सरकारी स्कूलों में अधोसंरचना मजबूत करने के लिए किए जा रहे अतिरिक्त कक्ष निर्माण के कार्य की जानकारी ली तथा अतिरिक्त कक्ष में अनिवार्य रूप से तड़ित चालाक स्थापित करते हुए 26 जनवरी से पूर्व निर्माण कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कृषि विभाग के उपसंचालक को जिले के किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से ज्यादा से ज्यादा लाभान्वित करने के लिए शिविर के माध्यम से आधार लिंक, ईकेवाईसी सहित उन्हें योजना की जानकारी उपलब्ध कराने कहा।
बैठक में कलेक्टर ने मुख्यमंत्री सुपोषण योजना, राजस्व प्रकरणों की निराकरण की स्थिति, नरवा के कार्य, आश्रम-छात्रावास निरीक्षण, जल जीवन मिशन, जाति प्रमाण पत्र, सार्वजनिक वितरण प्रणाली के कार्य, राजीव गांधी भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना, मनरेगा, हमर लैब के कार्य, लोक सेवा गारंटी, कृष्ण कुंज, राजीव युवा मितान क्लब, हाट-बाजार क्लिनिक योजना, धन्वन्तरी योजना, बीडीएम चिकित्सालय, स्वामी आत्मानंद विद्यालय, शिवरीनारायण स्टेडियम, बम्हनीडीह तहसील सहित अन्य निर्माण कार्यों के अद्यतन स्थिति, मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना, सी-मार्ट, आयुष्मान भारत योजना, चिटफंड, मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना, रामायण मंडली मानस गायन प्रतियोगिता, पैरादान, गौमूत्र खरीदी, गौमूत्र से बनने वाले उत्पादों के विक्रय की स्थिति सहित अन्य विभिन्न विषयों पर विस्तार से जानकारी ली तथा आवश्यक निर्देश दिए। बैठक में वनमंडलाधिकारी श्री सौरभ सिंह, अपर कलेक्टर श्री एस पी वैद्य, जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ ज्योति पटेल सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

गोधन न्याय योजना की हुई समीक्षा –

कलेक्टर श्री सिन्हा द्वारा समय-सीमा की बैठक पश्चात गोधन न्याय योजना के कार्यों की समीक्षा की गई। समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने जिले में 10 दिसंबर से संचालित पैरादान महोत्सव की जानकारी ली तथा बेहतर क्रियान्वयन होने पर तारीफ की। उन्होंने पैरादान महोत्सव के तरह ही गौठानों में गोधन संग्रहण बढ़ाने के लिए कार्ययोजना बनाकर लोगों को प्रोत्साहित करने कहा। कलेक्टर ने जिले में नए बनने वाले गौठानों में वर्किंग एरिया और पशुओं के लिए अलग-अलग एरिया चिन्हांकित कर व्यवस्थित रूप से गौठान निर्माण कार्य करने कहा। बैठक में कलेक्टर ने गौठानों में व्यवस्थित पैरा संग्रहण, निर्मित गौठानों को और बेहतर विकसित करने, वर्किंग शेड, पशु शेड, पैरादान की नियमित एंट्री आदि पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए। उन्होंने योजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिए नियमित रूप से पंचायत स्तर पर भी सचिव, रोजगार सहायक सहित संबंधित अधिकारी-कर्मचारियों का बैठक लेने के निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर ने गौठानों में उपलब्ध चारा, पैरा संग्रहण, चारा उत्पादन आदि की जानकारी लेते हुए चारागाह के कार्याें में प्रगति लाने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने पशुपालकों का शत प्रतिशत ऑनलाईन एंट्री कराने, नियमित गोबर खरीदी करने, खाद बिक्री, खाद की पैकिंग, गौमूत्र खरीदी, गौमूत्र से ब्रम्हास्त्र और जीवामृत तैयार किए जाने की अद्यतन स्थिति, मल्टिएक्टीविटी को विस्तारित करने, बाड़ी लगाये जाने आदि की जानकारी ली तथा आवश्यक निर्देश दिए।

Related Articles

Back to top button