Downlod GS24NEWS APP
छत्तीसगढ़

गणतंत्र दिवस की तैयारी के संबंध दिए आवश्यक निर्देश

सक्ती 18 जनवरी 2023/ कलेक्टर नूपुर राशि पन्ना ने ली साप्ताहिक समय सीमा की बैठक ली। बैठक में गणतंत्र दिवस समारोह की तैयारियों के संबंध में अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होने कहा कि राष्ट्रीय पर्व (गणतंत्र दिवस) 26 जनवरी को हर वर्ष की भांति नवीन जिला सक्ती में इस वर्ष गरिमामय ढंग से मनाया जायेगा। गणतंत्र दिवस को सफलतापूर्वक पूर्ण करने के लिए जिला स्तरीय अधिकारियों का कार्यविभाजन किया गया है। सभी अधिकारी अपने कर्तव्यों का निर्वहन प्राथमिकता से करे। जिला मुख्यालय मे मुख्य समारोह का आयोजन कलेक्ट्रेट मैदान में किया जाएगा। गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या एवं 26 जनवरी 2023 की रात्रि जिले के सभी शासकीय/सार्वजनिक भवनों पर रोशनी की जावेगी। ध्वनि विस्तारक यंत्र पर बजाये जाने वाले गाने देश भक्ति, सुरुचिपूर्ण एवं सामायिक हो। साथ ही कलेक्टर पन्ना ने मैदान व्यवस्था के साथ साथ मार्किंग करवाने निर्देश देते हुए झांकी को लेकर भी चर्चा की गई। कलेक्टर नूपुर राशि पन्ना ने कलेक्टोरेट सभाकक्ष में साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक लेते हुए विभागवार विभागीय योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा की। बैठक में कलेक्टर श्रीमती पन्ना ने उपस्थित सभी राजस्व अधिकारियों से कहा कि जिले के सभी तहसीलों में पर्याप्त राजस्व अधिकारी-कर्मचारी पदस्थ हैं, लेकिन इसके बावजूद भी जिले के कुछ नागरिक राजस्व से संबंधित उनके प्रकरणों के अनावश्यक विलंब किए जाने सहित अन्य शिकायत लेकर जनदर्शन में पहुंचते हैं, यह किसी भी प्रकार से अच्छी बात नहीं है। उन्होंने कहा कि आमजन अपने राजस्व से संबंधित वैधानिक हक लेने बड़ी ही उम्मीद लेकर तहसीलदार, आर. आई, पटवारी आदि राजस्व अधिकारियों के कार्यालयों में आते हैं। हमें उनकी उम्मीदों को किसी भी प्रकार से हताश नहीं करना है। बैठक में कलेक्टर ने कृषि विभाग के अधिकारी को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से हितग्राहियों को लाभान्वित कराने के लिए राजस्व, कृषि और बैंक के मैदानी अमलों के लिए संयुक्त प्रशिक्षण आयोजित कराए जाने के निर्देश दिए। समय-सीमा की बैठक में कलेक्टर ने विभागवार समय सीमा के लंबित प्रकरणों, भेंट मुलाकात अभियान के दौरान प्राप्त आवेदनों के निराकरण के अद्यतन स्थिति, जनशिकायत के लंबित आवेदनों की जानकारी ली तथा उनका निर्धारित समय सीमा में तेजी से निराकरण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने जिले से पलायन रोकने के लिए लोगो को जागरुक करने, मछली पालन के लिए तालाबों को लीज पर दिए जाने तथा संबंधित हितग्राहियों को मछली पालन के लिए प्रशिक्षण दिलाते हुए उन्हें प्रोत्साहित करने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही बैठक में कलेक्टर ने धान खरीदी कार्यों की जानकारी लेते हुए धान के रकबे पर विशेष निगरानी रखे जाने के निर्देश दिए हैं। बैठक में कलेक्टर ने मुख्यमंत्री सुपोषण योजना के उचित रूप से क्रियान्वयन नहीं होने पर नाराजगी जाहिर करते हुए कार्ययोजना बनाकर कार्य करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने बैठक में राजस्व प्रकरणों की निराकरण की स्थिति, नरवा के कार्य, जल जीवन मिशन, जाति प्रमाण पत्र, सार्वजनिक वितरण प्रणाली के कार्य, राजीव गांधी भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना, मनरेगा, लोक सेवा गारंटी, राजीव युवा मितान क्लब, हाट-बाजार क्लिनिक योजना, धन्वन्तरी योजना, निर्माण कार्यों के अद्यतन स्थिति, मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना, पैरादान, गौमूत्र खरीदी, सी-मार्ट गौमूत्र से बनने वाले उत्पादों के विक्रय की स्थिति सहित अन्य विभिन्न विषयों पर विस्तार से जानकारी ली तथा आवश्यक निर्देश दिए। बैठक में एसपी एमआर आहिरे, एडीएम बीरेन्द्र लकड़ा, एसडीएम मालखरौदा रजनी भगत, एसडीएम सक्ती पंकज दाहिरे, एसडीएम डभरा दिव्या अग्रवाल मौजूद रहे।

आधार कार्डों को अपडेट कराने में किसी को नहीं होनी चाइए परेशानी – कलेक्टर पन्ना

समय-सीमा की बैठक पश्चात कलेक्टोरेट सभाकक्ष में जिला स्तरीय आधार निगरानी समिति बनाकर आधार कार्डों को अपडेट करने को कहा। बैठक में कलेक्टर पन्ना ने जिला जांजगीर के समय से 10 वर्ष से पहले बनाये गये आधार कार्डाे का शिविर के माध्यम से ऑनलाइन डाक्यूमेंट अपडेट कराये जाने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने 5 वर्ष तक के बच्चों का भी आधार कार्ड बनाये जाने कहा। इसके साथ ही बैठक में सभी आयु वर्ग के समूहों में आधार सेचुरेशन एवं बच्चों का अनिवार्य बायोमेट्रीक अपडेशन, आधार से संबंधित धोखाधड़ी गतिविधियों की निगरानी रखने, आधार लिंक्ड जन्म पंजीकरण का क्रियान्वयन करने सहित अन्य विभिन्न बिन्दुओं पर विस्तार से चर्चा की गई।

गोधन न्याय योजना की हुई समीक्षा
आजीविका मूलक गतिविधियों को बढ़ाने पर दें जोर – कलेक्टर पन्ना

समय-सीमा की बैठक पश्चात कलेक्टर श्रीमती पन्ना ने गोधन न्याय योजना की समीक्षा बैठक लेते हुए कहा कि गौठान में आजीविका मूलक गतिविधियों से हितग्राहियों को जोड़कर उनकी आय में वृद्धि कराए तथा जो समूह और हितग्राही बेहतर कार्य कर रहे हैं, उन्हें प्रोत्साहित करे। बैठक में कलेक्टर ने पशुपालन विभाग, मत्स्य पालन विभाग, उद्यान विभाग अंतर्गत चल रहें विभागीय योजनाओं के तहत अब तक किये गये कार्यों सहित अद्यतन स्थिति की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि गोधन न्याय योजना के तहत जितने पशुपालकों का पंजीयन हुआ है, उन्हें गौठान में गोबर विक्रय करने के लिए प्रेरित करें। कलेक्टर श्रीमती पन्ना ने सभी सीईओ से कहा कि गौठानों में आजीविका गतिविधियों के बहुत विकल्प है, मछलीपालन, मुर्गीपालन, बाड़ी विकास कार्यों में हितग्राहियों को अधिक से अधिक जोड़कर आगे बढ़ाया जाए। इसके अलावा उन्होंने रीपा योजना के अंतर्गत चयनित ग्रामीणों, युवाओं एवं समूह की महिलाओं को बेहतर प्रशिक्षण देने के निर्देश दिए। उन्होंने एनजीजीबी के तहत कार्यों की जनपद पंचायतवार समीक्षा की तथा प्रगतिरत कार्यों को तेजी से पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने गोठानों में हुए पैरादान को लेकर सभी सीईओ की सराहना करते हुए अधिकारियों को पैरादान और बढ़ाने तथा ऑनलाइन एण्ट्री कराये जाने के निर्देश दिए। इसके अलावा बैठक में कलेक्टर नूपुर राशि पन्ना ने गौठानों में उपलब्ध चारा, पैरा संग्रहण, चारा उत्पादन, गोबर खरीदी, खाद बिक्री, खाद की पैकिंग, गौमूत्र खरीदी, गौमूत्र से ब्रम्हास्त्र और जीवामृत तैयार किए जाने की अद्यतन स्थिति आदि की जानकारी लेते हुए चारागाह के कार्यों तथा गौमूत्र खरीदी में प्रगति लाने के निर्देश दिए।

Related Articles

Back to top button