Downlod GS24NEWS APP
छत्तीसगढ़

जल जीवन मिशन के कार्यों में लाये प्रगति, लक्ष्य के अनुसार समय में पूरा करें कार्य : कलेक्टर

जांजगीर-चाम्पा 09 दिसम्बर 2022/ जल जीवन मिशन अंतर्गत जिले में पेयजलापूर्ति हेतु किए जा रहे नल कनेक्शन और पानी टंकी निर्माण कार्यों की कलेक्टर श्री तारन प्रकाश सिन्हा ने आज समीक्षा की। उन्होंने सख्त निर्देश दिए कि जेजेएम के अंतर्गत कार्यों में लापरवाही बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सभी कार्य समय पर और निर्धारित लक्ष्य अनुसार पूरा किया जाना चाहिए। कलेक्टर ने पीएचई के अधिकारियों को निर्देशित किया कि ग्राम पंचायत स्तर पर पेयजल व्यवस्था के हैंडओवर के पूर्व उन्हें इसके संचालन के लिए प्रशिक्षित किया जाए। इसके साथ ही किसी प्रकार के कनेक्शन में टूट-फुट या अन्य मरम्मत एवं आवश्यकताओं को ध्यान रखकर ग्राम स्तर पर पेयजल आपूर्ति का न्यूनतम शुल्क भी निर्धारित करने प्रोत्साहित करने का सुझाव दिया गया।
कलेक्टर श्री सिन्हा की अध्यक्षता में कलेक्टोरेट सभाकक्ष में जिला जल एवं स्वच्छता मिशन की बैठक आयोजित की गई। उन्होंने जल जीवन मिशन अंतर्गत स्वीकृत जल प्रदाय योजनाओं के अंतर्गत घरेलू कनेक्शन की अद्यतन स्थिति की समीक्षा के साथ ही रिट्रोफिटिंग नवीन एकल ग्राम योजनाओं की तकनीकी स्वीकृति प्राप्त योजनाओं के अनुमोदन तथा प्राक्कलन की पुनरीक्षित स्वीकृति का अनुमोदन किया। कलेक्टर ने पीएचई विभाग के अधिकारियों से कहा कि जल जीवन मिशन योजना के तहत जिले को मिले लक्ष्य को समयावधि में गुणवत्तापूर्ण पूरा करें।
बैठक में जिला जल एवं स्वच्छता मिशन समस्त सदस्यों के समक्ष सदस्य सचिव जिला जल एवं स्वच्छता मिशन सुनील कुमार शुक्ला द्वारा एजेण्डा प्रस्तुत किया। जिस पर जल जीवन मिशन कार्यक्रम के अंतर्गत योजनाओं का पुनरीक्षण एवं प्रशासकीय स्वीकृति प्राप्त योजनाओं का कार्याेत्तर अनुमोदन, जल जीवन मिशन कार्यक्रम अंतर्गत प्रशासकीय स्वीकृति में संशोधन आमंत्रित निविदाओं में प्राप्त न्यूनतम दर 25 एफ. एच.टी.सी. एवं उससे कम एफ.एच.टी.सी. वाले 45 ग्रामों में हर घर जल सर्टिफिकेशन, जिन ठेकेदारों द्वारा 08 माह से भी अधिक अवधि से कार्य प्रारंभ नही किया गया है उन अनुबंधों का निरस्तीकरण एवं आय व्यय एवं प्रस्तावित कार्यों का अनुमोदन किया गया।
कलेक्टर ने बैठक में जांजगीर चांपा जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में शासकीय संस्थानों में संचालित स्कूल, आंगनवाड़ी केंद्र, स्वास्थ्य केंद्र, छात्रावास, आश्रम केंद्रों में जल जीवन मिशन के तहत की गई पेयजल व्यवस्था की भी जानकारी लेकर अधिकारियों को निर्देशित किया।

Related Articles

Back to top button