Downlod GS24NEWS APP
छत्तीसगढ़

जांजगीर चांपा जिले में तेजी से निपट रहे राजस्व के पेंडिंग मामले: जिले में चालू राजस्व वर्ष में अब तक 17 हजार 639 प्रकरणों का किया जा चुका है निराकरण, कलेक्टर के निर्देशन में राजस्व शिविर के माध्यम से 1 हजार 3 सौ 26 प्रकरणों का किया गया त्वरित निराकरण

जांजगीर चांपा 16 दिसंबर 2022/ कलेक्टर श्री तारन प्रकाश सिन्हा द्वारा जिले के सभी राजस्व अधिकारियों को योजनाबद्ध और पारदर्शी ढंग से कार्य करते हुए लंबित तथा नए प्राप्त होने वाले राजस्व प्रकरणों का तेजी से निराकरण करने के निर्देश लगातार दिए जा रहे हैं। कलेक्टर के निर्देशन में ही जिले के विभिन्न तहसीलों में और दूर दराज के ग्राम पंचायतों में 14 नवम्बर से 8 दिसम्बर तक राजस्व शिविर के माध्यम से जमीनी स्तर पर आमजन से रूबरू होकर त्वरित रूप से राजस्व से संबंधित एक हजार 3 सौ 26 प्रकरणों का निराकरण शिविर के माध्यम से किया गया। कलेक्टर श्री सिन्हा द्वारा जिले के सभी राजस्व अधिकारियों को प्रत्येक सप्ताह निर्धारित तिथि और समय पर कोर्ट लगाने, पक्षकारों को इसकी जानकारी उपलब्ध कराने तथा बिना किसी भ्रष्टाचार के राजस्व कार्यालयों में किसी काम से आने वाले नागरिकों के कार्यों को उचित व्यवहार के साथ जल्द से जल्द करने के निर्देश दिए जाते है। कलेक्टर के राजस्व कार्यों में लगातार मॉनिटरिंग और निर्देशों के कारण ही जिले में चालू राजस्व वर्ष में 17 हजार 639 प्रकरणों का निराकरण किया जा चुका है। इन प्रकरणों के निराकरण होने से संबंधित नागरिक राहत की सांस ले रहे हैं। तेजी से राजस्व प्रकरणों के निराकरण से अब लोंगो को विशेष कर ग्रामीण क्षेत्रों में शासकीय योजनाओं का शत प्रतिशत लाभ लेने के भी रास्ते बेहतर ढंग से खुल रहे है। कलेक्टर ने सभी राजस्व अधिकारियों को आगामी महीनो में भी लक्ष्य निर्धारित कर कार्ययोजना अनुसार शेष लंबित प्रकरणों का तेजी से निराकरण करने के निर्देश दिए हैं।
राजस्व विभाग से प्राप्त जानकारी अनुसार कलेक्टर श्री सिन्हा के निर्देशन में 14 नवंबर से 8 दिसंबर तक आयोजित किए गए राजस्व शिविर के माध्यम से अनुविभाग चांपा अंतर्गत तहसील चांपा में 7 राजस्व शिविर आयोजित करते हुए 42 आवेदन निराकृत किए गए। इसी प्रकार तहसील बम्हनीडीह में 8 राजस्व शिविर का आयोजन किया गया जिसमें 51 आवेदन निराकृत और तहसील सारागांव में 8 राजस्व शिविरों में 72 आवेदनों का निराकरण किया गया है। जांजगीर अनुविभाग के तहसील जांजगीर में 5 राजस्व शिविर का आयोजन किया गया जिसमें 146 आवेदन निराकृत, तहसील नवागढ़ में 8 राजस्व शिविर का आयोजन किया गया जिसमें 592 आवेदन निराकृत, तहसील शिवरीनारायण में 9 राजस्व शिविर का आयोजन किया गया जिसमें 68 आवेदन निराकृत किए गए। अनुविभाग अकलतरा के तहसील अकलतरा में 8 राजस्व शिविर का आयोजन किया गया जिसमें 170 आवेदन निराकृत, तहसील बलौदा में 8 राजस्व शिविर का आयोजन किया गया जिसमें 90 आवेदन निराकृत किए जा चुके हैं और अनुविभाग पामगढ़ अंतर्गत तहसील पामगढ़ में 8 राजस्व शिविर का आयोजन किया गया जिसमें 95 आवेदन निराकृत किया जा चुका है। इस प्रकार राजस्व शिविर के माध्यम से एक हजार 3 सौ 26 आवेदनों का निराकरण त्वरित रूप से किया गया तथा शेष आवेदनों का जल्द निराकरण किया जाएगा।

जिले के राजस्व न्यायालयों द्वारा चालू राजस्व वर्ष में अब तक 17 हजार 639 प्रकरणों का किया जा चुका है निराकरण-

कलेक्टर कार्यालय राजस्व विभाग से प्राप्त जानकारी अनुसार जिले में राजस्व न्यायालयों द्वारा चालू राजस्व वर्ष में अब तक 17 हजार 639 प्रकरणों का निराकरण किया जा चुका है तथा शेष लंबित प्रकरणों का जल्द निराकरण किया जाएगा। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व न्यायालय जांजगीर अंतर्गत चालू राजस्व वर्ष में अब तक 9 सौ 93 प्रकरण निराकृत, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व न्यायालय चांपा अंतर्गत चालू राजस्व वर्ष में अब तक 6 सौ 52 प्रकरण निराकृत, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व न्यायालय पामगढ़ अंतर्गत चालू राजस्व वर्ष में अब तक 4 सौ 27 प्रकरण निराकृत किए जा चुके हैं। इसी प्रकार जिले के अतिरिक्त अनुविभागीय अधिकारी, तहसीलदार और नायब तहसीलदार न्यायालयों सहित अन्य राजस्व न्यायालयों में चालू राजस्व वर्ष में अब तक 17 हजार 639 प्रकरणों का निराकरण किया जा चुका है तथा शेष आवदेनों के निराकरण पर तेजी से कार्य किया जा रहा है

Related Articles

Back to top button