Downlod GS24NEWS APP
छत्तीसगढ़

जिले में संचालित मोबाइल मेडिकल यूनिट में मनाया गया विश्व मधुमेह दिवस 593 लोगों ने कराया उपचार

जांजगीर चाम्पा 15 नवम्बर 2022/ विश्व मधुमेह (डायबिटीज) दिवस हर साल 14 नवंबर को मनाया जाता है और यह दुनिया में एक महत्वपूर्ण स्वास्थ्य सेवा कार्यक्रम है। इस दिन का उद्देश्य मधुमेह पर जागरूकता और रोकथाम के महत्व पर जोर देना है। इस बारे में जानकारी फैलाना और अधिक से अधिक लोगों को निवारक युक्तियों और किसी व्यक्ति के स्वास्थ्य पर मधुमेह के प्रभाव के बारे में शिक्षित करना है।
इसी कड़ी में विगत दिवस जांजगीर-चांपा जिले एवं नव गठित सक्ति जिले में मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना अंतर्गत संचालित मोबाइल मेडिकल यूनिट में विशेष स्वास्थ्य शिविर विश्व मधुमेह दिवस मनाया गया, जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने अपना शुगर जांच कराते हुए मधुमेह बीमारी से संबंधित जानकारी प्राप्त की। सरकार के द्वारा संचालित निशुल्क स्वास्थ शिविर में 170 प्रकार की दवाई समेत 41 प्रकार के पैथोलॉजी लैब जांच समेत ह्रदय जांच हेतु ईसीजी की सुविधा बिल्कुल नि:शुल्क उपलब्ध है।
14 नवम्बर को ही क्यो मनाया जाता है विश्व मधुमेह दिवस –

14  नवम्बर चार्ल्स, बेन्टिंग का जन्म दिन है जिन्होंने कानाडा के टोरन्टो शहर में बेन्ट के साथ मिलकर सन 1921 में इन्सुलिन की खोज की थी। इतिहास की इस महान खोज को अक्षुण रखने के लिए इन्टरनेशनल डायबिटीज फेडेरेशन (आईडीएफ) द्वारा 14 नवम्बर को पिछले दो दशको से विश्व डायबिटीज दिवस हर साल मनाया जाता है।

मधुमेह के मुख्य लक्षण –

मधुमेह के मुख्य लक्षणों में थकान, कमजोरी, पैरों में दर्द, पैर का घाव ठीक न होना या गैंग्रीन का रूप ले लेना, अधिक पेशाब और भूख लगना, वजन कम होना, बार- बार चश्मे का नंबर बदलना, जननांगों में खुजली और संक्रमण होना, दिल या मानसिक समस्याएं आदि प्रमुख लक्षण है।

इस बीमारी से बचने के उपाय –

इस गंभीर बीमारी से बचने के लिए हमें अपने खानपान के साथ-साथ, रहन-सहन आदि पर विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। इसके साथ ही इससे बचने के लिए योग करें, अपने वजन को काबू में रखें, अपने रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल स्तर को नियंत्रण में रखें, धुम्रपान और शराब से दूर ही रहें, दिन भर में कम से कम 15 से 20 मिनट तक पैदल चलें, हमेशा ताज़ा खाना ही लें, डिब्बाबंद और फ्रोजन खाने से दूर रहें, हमेशा सक्रिय बने रहें, ज्यादा आराम न करें, नियमित शुगर स्तर जांच कराएं एवं समय-समय पर चिकित्सक से परामर्श लेने से मधुमेह से बचा जा सकता है।

इलाज के साथ-साथ स्वास्थ्य संबंधी जानकारी –

विश्व मधुमेह दिवस के अवसर पर जिले में संचालित मोबाइल मेडिकल यूनिट में कुल 593 लोगों ने अपना स्वास्थ्य परीक्षण कराया वहीं 589 लोगों को निशुल्क दवा वितरण एवं 239 लोगो का पैथोलॉजी लैब टेस्ट हुआ जिसमे 184 लोगो ने अपना शुगर परीक्षण कराया। मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना अंतर्गत संचालित मोबाइल मेडिकल यूनिट में इलाज पूर्णतः निशुल्क है, जहां मरीजों को इलाज के साथ-साथ स्वास्थ्य संबंधी जानकारी भी दी जाती है।

Related Articles

Back to top button