Downlod GS24NEWS APP
छत्तीसगढ़

दुर्घटनाकारित कर फरार टैंकर चालक को गिरफ्तार करने में पुलिस को मिली सफलता, आरोपी टैंकर चालक द्वारा तेजी एवं लापरवाहीपूर्वक वाहन चलाते हुए मोटर सायकल सवार को लिया था चपेट में

दिनांक 27.10.22 को प्रार्थी विजय कुमार राजवाड़े निवासी कनकी थाना उरगा जिला कोरबा द्वारा रिपोर्ट दर्ज कराया गया कि इसका पड़ोसी हरिराम राजवाड़े निवासी कनकी प्रातः अपने मोटर सायकल में कुसमुण्डा तरफ ड्यूटी जा रहा था जैसे ही बजरंग चौक कोरबा मार्ग पहुंचा था उसी दौरान पंतोरा के तरफ से आती हुई अज्ञात वाहन के चालक द्वारा तेजी एवं लापरवाहीपूर्वक वाहन चलाते हुये हरिराम राजवाड़े के मोटर सायकल को ठोकर मारते हुये अपने चपेट में ले लिये और वाहन हरिराम राजवाड़े के ऊपर चढ़ गया जिसके कारण मौके पर ही उसकी मृत्यु हो गई।
प्रार्थी की रिपोर्ट पर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध धारा 304ए भादवि पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।
प्रकरण की विवेचना के दौरान आसपास के लोगों से पूछताछ करने पर अज्ञात टैंकर द्वारा दुर्घटना करना बताने पर घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीव्ही कैमरा एवं पंतोरा, बलौदा, अकलतरा टोल नाका तक सीसीटीव्ही फुटेज को चेक किया गया। जिसमे बारह चक्का का इंडियन आयल टैंकर जाते दिखा। उसके बाद कोरबा पंतोरा मार्ग में स्थित पेट्रोल पंप में लगे सीसीटीव्ही कैमरा को चेक करते हुये उरगा में लगे सीसीटीव्ही फुटेज को देखने पर उक्त वाहन कोरबा की तरफ जाते दिखाई दिया। पेट्रोल पंप के मालिकों तथा चालकों से सीसीटीव्ही फुटेज दिखाकर वाहन के संबंध में पूछताछ करने पर फरनिश ऑयल के टैंकर होेने की बात कहते हुये फरनिश ऑयल के टैकर रायपुर से बालको एनटीपीसी जाना बताये। उसके बाद बालको एनटीपीसी बायपास में स्थित पेट्रोल पंप को चेक करते बाल्को एनटीपीसी पहुंचे जहॉ उक्त टैंकर का फुटेज दिखाकर उसके संबंध में पूछताछ करने पर टैंकर का नंबर सीजी 07 सीए 9468 चालक रघुनाथ चौहान के संबंध में पता चलने पर साईबर सेल से तकनीकी सहायता के आधार पर आरोपी के बाल्को प्लांट में होने की जानकारी प्राप्त होने पर आरोपी को गिरफ्तार कर चौकी पंतोरा लाया गया।
⏩आरोपी वाहन चालक रघुनाथ चौहान उम्र 47 वर्ष निवासी जिगरसंडी पोस्ट दौलताबाद थाना जहानागंज जिला उत्तरप्रदेश को गिरफ्तार किया गया।
आरोपी को गिरफ्तार करने एवं वाहन को बरामद करने में उनि कामिल हक, सउनि गिलेटबीन कुमार, प्र.आर. मोह. तौफिक, बलवीर सिंह आर. राजेन्द्र कहरा, रमेश नेताम एवं चिरंजीव का सराहनीय योगदान रहा।

Related Articles

Back to top button