Downlod GS24NEWS APP
Uncategorized

पामगढ पुलिस पर प्राण घातक हमला करने वाले फरार आरोपी को गिरफ्तार करने में पामगढ़ पुलिस को सफलता

दिनांक 03.11.22 को श्री निकोलस खलखो उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय जांजगीर चांपा के नेतृत्व में थाना प्रभारी पामगढ श्री ओ पी कुर्रे तथा पुलिस के अन्य अधिकारी कर्मचारी ग्राम सेमरिया, बोरसी, भैसो की ओर सुबह करीबन 08.00 बजे रवाना हुये थे। ग्राम सेमरिया के पास पुलिस टीम पहुंची थी कि मुखबीर से ग्राम सेमरिया के सबरिया डेरा में अवैध शराब बिक्री की सूचना प्राप्त हुई। जिसकी सूचना के आधार पर ममता गोड (सबरिया) के घर दबिस देकर उसके कब्जे से अवैध कच्ची महुआ शराब करीब 12 लीटर जप्त कर 34 (2) आबकारी एक्ट के तहत कार्यवाही कर आरोपिया ममता गोड एवं जप्त अवैध महुआ शराब को शास. बुलेरो वाहन में लेकर थाना पामगढ की ओर निकले थे। घटना स्थल से थाना प्रभारी पामगढ उप निरीक्षक श्री ओ पी कुर्रे तथा शेष बल सबरिया डेरा सेमरिया से पामगढ की ओर निकल रहे थे कि नहर के पहले सबरिया डेरा के पास करीब 09.00 बजे लगभग 13-14 लोग सभी एक राय होकर अपने अपने हांथो में लाठी-डण्डा, रॉड लेकर डण्डा लाठी एवं रॉड से थाना प्रभारी उप निरी. ओ पी कुर्रे, सउनि शिव चन्द्रा एवं उपस्थित पुलिस के अन्य स्टाफ के साथ गंदी गंदी गाली गलौच करते हुये जान से मारने की धमकी देते हुये अचानक हमला कर जान से मारने की नियत से गंभीर चोंट पहुंचाये थे
घटना की रिपेार्ट पर आरोपियों के विरुद्ध थाना पामगढ में अपराध क्र. 431/22 धारा 147, 148, 149, 341, 332, 353, 186,307,427 भादवि एवं 3 लोक संपत्ति क्षति निवारण अधिनियम का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

घटना में सम्मिलित आरोपीगण 1. मंगली बाई 2. चंपा बाई 3. अनिता उर्फ भुरी बाई 4. शांति बाई 5. राजाराम उर्फ डोकरा उर्फ बुढवा सभी निवासी सेमरिया सबरिया डेरा थाना पामगढ 6. रामलाल (सबरिया) उम्र 29 वर्ष निवासी घटमडवा थाना गिधौरी 07 चन्दन गोड़ 08 जितेंद्र गोड़ 09 सूरज गोंड एवं 10 सुंदर सबरिया 11 कन्हैया सबरिया को गिरफ्तार किया जा चुका है
प्रकरण का आरोपी नरेंद्र पाल बर्मन घटना दिनांक से फरार था जिसकी लगातार पतासाजी की जा रही थी आरोपी को उसके घर आने की सूचना प्राप्त होने पर पुलिस पार्टी द्वारा घेराबंदी कर आरोपी को दिनांक 17.11.22 को न्यायिक रिमांड में भेजा गया
फरार आरोपी को गिरफ्तार करने में उप निरीक्षक सन्तोष शर्मा, आरक्षक राजा रात्रे, महेंद्र राज, महिला आरक्षक मालती लहरे एवं विशेष टीम का सराहनीय योगदान रहा

Related Articles

Back to top button