Downlod GS24NEWS APP
छत्तीसगढ़

पार्षद रिंकू आनंद अग्रवाल के द्वारा कांग्रेस सरकार के 4 वर्ष पूर्ण होने पर स्कूली बच्चों के साथ मनाया गौरव दिवस

सक्ती- छत्तीसगढ़ प्रदेश में कांग्रेस के 4 वर्ष पूर्ण होने पर गौरव दिवस के अवसर पर नगर पालिका पार्षद  रिंकू आनंद अग्रवाल ने 17 दिसंबर को सक्ती नगर के स्टेशन पारा शासकीय सदर प्राथमिक शाला के लगभग 100 बच्चों को वाहन मे बैठाकर स्वयं अपने साथ लेकर शहर के बुधवारी बाजार ग्राउंड में चल रहे जिले के प्रसिद्ध रौताही मेला दिखाने के लिए लेकर पहुंची पार्षद रिंकू आनंद अग्रवाल ने बताया कि शासकीय प्राइमरी स्कूल के छोटे छोटे बच्चे माता पिताके आर्थिक स्थिति कमजोर रहने के चलते कई बच्चे महंगे झूले एवं अच्छे व्यंजन का लुफ्त नहीं उठा पाते इन सब को देखते हुए बच्चों की खुशी के लिए पार्षद रिंकू आनंद अग्रवाल के द्वारा बच्चों की खुशी के लिए इन्हें रौताही मेला घूमने ले जाया गया !

Chhattisgarh news update : जहां बच्चों ने मेले में अलग-अलग ड्रैगन झूले सहित अन्य झूलो का आनंद लिया वही स्वयं नगर पालिका पार्षद रिंकू आनंद अग्रवाल ने बच्चों के साथ झूला झूलकर उनका उत्साहवर्धन किया,इस दौरान बच्चों के साथ विद्यालय के शिक्षक/ शिक्षिकाएं एवं नगरपालिका सक्ती के अन्य जनप्रतिनिधि भी मौजूद रहे, इस अवसर पर रौताही मेले के झूलों में झूलकर बच्चों के खुशी का ठिकाना नहीं रहा, तो वही बच्चों ने भी खूब मौज मस्ती करते हुए मेले का आनंद लिया, साथ ही मेले में लगे फास्ट फूड के स्टॉल एवं विभिन्न प्रकार के व्यंजनों का बच्चों ने लुफ्त उठाया तथा बच्चों ने नगरपालिका पार्षद रिंकू आनंद अग्रवाल के इस पहल पर उनका आभार व्यक्त किया !

Chhattisgarh news update : वही जब बच्चे झूला झूल रहे थे तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा, सक्ती शहर के बुधवारी बाजार ग्राउंड में प्रसिद्ध रौताही मेले का आयोजन 7 दिसंबर से प्रारंभ हुआ है, तथा इस मेले में जहां दूरदराज के लोग घूमने आते हैं तो वहीं स्टेशन पारा के शासकीय सदर प्राथमिक शाला के बच्चों को आज रौताही मेला घुमाने को लेकर विद्यालय परिवार ने पार्षद  रिंकू आनंद अग्रवाल का आभार व्यक्त किया है !

Chhattisgarh news update : इस दौरान , पार्षद दीपक सेवक रिकी, सहित नगरपालिका के एल्डरमेन सूरज सोना सहित अनेकों जनप्रतिनिधि उपस्थित थे इस अवसर पर नगर पालिका पार्षद रिंकू आनंद अग्रवाल ने कहा कि आर्थिक स्थिति कमजोर रहने के चलते कई ऐसे बच्चे रहते हैं जो मंहगे झूले एवं मंहगे फास्ट फूड का आनंद नहीं ले सकते और मेरे द्वारा महिला साथियों के साथ पहली बार यह पहल करते हुए बच्चों को मेले में झूला एवं व्यंजन का लुफ्त उठाने के लिए लाया गया है और आज जो बच्चो की खुशी झूलों में मैंने देखा इससे बड़ा आनंद मुझे आज मुझे दुनिया का सुख प्राप्त हुआ और ऐसी खुशी मुझे नहीं मिला और हर व्यक्ति को ऐसे बच्चों की खुशी के लिए आगे बढ़ कर कार्य करना चाहिए बच्चों की खुशी से ही भगवान प्रसन्न होते हैं !

Related Articles

Back to top button