Downlod GS24NEWS APP
छत्तीसगढ़

स्कूल में बच्चे ने की आत्महत्या:पिता के मोबाइल नहीं दिलाने से था नाराज; 13 साल के नाबालिग ने कक्षा में ही लगा ली फांसी

सक्ती जिले के मांसी थाना क्षेत्र में 13 साल के नाबालिग लड़के ने मोबाइल नहीं मिलने पर आत्महत्या कर ली। बड़ी बात ये है कि नाबालिग ने अपने स्कूल में ही फांसी लगा ली। ग्राम सुलौनी के शासकीय माध्यमिक विद्यालय के कमरे में फांसी के फंदे से लटकता हुआ उसका शव मिला। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया है और आगे की कार्रवाई की जा रही है।

ASP गायत्री सिंह ने बताया कि कक्षा आठवीं में पढ़ने वाला 13 वर्ष का नाबालिग छात्र आदित्य श्रीवास जो कि सुकलीपाली का रहने वाला है, उसने स्कूल में ही खुदकुशी कर ली है। मृतक के पिता शांति श्रीवास ने बताया कि 26 दिसंबर को वह घर आकर मोबाइल लेने की जिद कर रहा था। पिता का कहना है कि उ्होंने मजदूरी का पैसा आने के बाद मोबाइल खरीद देने की बात कही थी। जिस पर वह नाराज हो गया। सोमवार की दोपहर 12 बजे वो घर से निकला था। देर शाम तक भी जब वो घर वापस नहीं लौटा, तो उसकी तलाश शुरू की गई, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला।परिजनों ने सोचा कि वो मेला देखने के लिए चला गया होगा और रात तक आ जाएगा।

फांसी के फंदे से लटकता शव।
फांसी के फंदे से लटकता शव।

इस बीच स्कूल में भी क्रिसमस की छुट्टियां चल रही थीं। जब 26 दिसंबर की देर रात तक भी छात्र घर वापस नहीं आया, तो परिजनों ने थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराने के बजाए अपने स्तर पर ही बच्चे की तलाश करते रहे। रिश्तेदारों के घर जाकर भी उसे ढूंढा गया, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चल सका। 29 दिसंबर को स्कूल खुलने पर जब चपरासी दरवाजा खोलकर अंदर गया, तो कमरे में पंखे के चलने की आवाज सुनी। इसके बाद दरवाजा खोलने की कोशिश की गई, लेकिन वो अंदर से बंद मिला। पीछे की खिड़की से जब क्लास रूम में झांककर देखा गया, तो बच्चे का शव फांसी के फंदे से लटक रहा था।

बच्चे का शव।

Related Articles

Back to top button