Downlod GS24NEWS APP
छत्तीसगढ़

*जांजगीर-चांपा में स्वाइन फ्लू के 4 मरीज मिले, स्वाईन फ्लू एन्फ्लुएन्जा से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा अलर्ट जारी*

जांजगीर-चांपा मे स्वाईन फ्लू एन्फ्लुएन्जा के चार मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग द्वारा अलर्ट जारी करते हुए आम जनता से इससे बचाव एवं सुरक्षा के लिए उपाय अपनाते हुए आवश्यकतानुसार जांच कराने की अपील की गई है। स्वाईन फ्लू एन्फ्लुएन्जा एच वन एन वन श्वसन तंत्र को प्रभावित करने वाला संक्रामक रोग है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से प्राप्त जानकारी अनुसार स्वाईन फ्लू एन्फ्लुएन्जा एच वन एन वन के लक्षण के अंतर्गत बुखार के साथ खाँसी, सिरदर्द, बदन दर्द, नाक बहना, गले में खरास इसके प्रमुख लक्षण है तथा संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से भी इससे ग्रसित हो सकते है । स्वाईन फ्लू एन्फ्लुएन्जा एच वन एन वन से बचाव और सुरक्षा के लिए छीकते एवं खांसते समय मुंह को रूमाल या कपड़े से अवश्य ढके, नियमित रूप से दिन में कई बार हाथों को साबुन या साफ पानी से धोएं। बुखार, खांसी, जुकाम, छींक, गले में खरास, आखो में लाली, सांस लेने में कठिनाई के लक्षण वाले व्यक्ति से कम से कम एक मीटर की दूरी अवश्य बनाकर रखें, भीड़ वाली सार्वजनिक स्थलों पर जाने से बचें, बच्चों को फ्लू जैसे लक्षण दिखाई देने पर तत्काल चिकित्सक की सलाह पर ही स्कूल भेजे, घर में कमरे की खिड़की खुली रखें ताकि बाहर की स्वच्छ हवा आए, निष्प्रयोजन सामग्री का उचित निस्तारण करे, बिना हाथ धोए अपनी आंख, मुहं एवं नाक को न छुएं, यदि आपको फ्लू के लक्षण लगें तो घर पर ही रहें, स्कूल, कार्यालय अथवा भीड़ वाले स्थानों पर न जाएं, पर्याप्त नींद ले, पौष्टिक भोजन का सेवन करे और शरीर को क्रियाशील रखें। स्वाईन फ्लू एन्फ्लुएन्जा एच वन एन वन से ग्रसित होने पर सामान्य उपचार से तीन दिन में लाभ न हो तो सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं जिला चिकित्सालय में सैम्पल संग्रहित कराये एवं मेडिकल कॉलेज में निःशुल्क स्वास्थ्य जाँच करायें। जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वाईन फ्लू एन्फ्लुएन्जा एच वन एन वन से बचाव के लिए उपरोक्त लक्षण पाये जाने पर बचाव के उपाय एवं सुरक्षा अपनाते हुए आवश्यकतानसार स्वास्थ्य केन्द्रों में सैंपल संग्रहण कराते हुए आवश्यकतानुसार जांच कराने की अपील की गई है।

 

 

Related Articles

Back to top button