Downlod GS24NEWS APP
Uncategorized

नगर में निकली भव्य गौ गौरव परिक्रमा हुआ विशाल मेले का आयोजन श्री मदनमोहन गौशाला को आज मिला यति यतनलाल सम्मान

*नगर में निकली भव्य गौ गौरव परिक्रमा हुआ विशाल मेले का आयोजन*

*श्री मदनमोहन गौशाला को आज मिला यति यतनलाल सम्मान*

@Siddharth sharma खरसिया।

छत्तीसगढ़ की ख्यातिप्राप्त श्री मदनमोहन गौशाला खरसिया में हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी गोपाष्टमी पर्व बड़े धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस बार गोपाष्टमी पर्व पर गौ गौरव नगर परिक्रमा का कार्यक्रम रखा गया जो कि आज 1 नवंबर मंगलवार को गाजे-बाजे और कर्मा डीजे के साथ जिसमें भक्तगण भजन गाते हुए साथ चल रहे थे यात्रा बसंती राईस मिल से संपूर्ण खरसिया नगर का भ्रमण करते हुए गौशाला पहुंची परिक्रमा यात्रा में संपूर्ण क्षेत्र के गौ भक्त सम्मिलित हुए। वही भव्य गोपाष्टमी मेला का आयोजन किया गया जिस में महिलाओं और बच्चों द्वारा उत्साह से भाग लिया गया। 2 नवंबर को आँवला नवमी पूजन एवं भंडारा के प्रसाद की भी व्यवस्था श्री मदनमोहन गौशाला प्रांगण में की गई है। गौशाला का निस्वार्थ गऊ भक्ति और गऊ सेवा के रूप में संचालन करने वाले खरसिया के युवाओं का उत्साह और खुशी उस वक्त दोगुनी हो गई जब छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा श्री मदन मोहन गौशाला के गौसेवा कार्यों से प्रभावित होकर वर्ष 2022 में खरसिया की श्री मदन मोहन गौशाला को यति यतनलाल राज्य अलंकरण सम्मान हेतु चयनित किया। गौरतलब है कि राज्य शासन द्वारा राज्योत्सव के समय दिया जाने वाला यह सम्मान अहिंसा एवं गौसेवा के क्षेत्र में विशेष योगदान के क्षेत्र में दिया जाता है। इस सम्मान को प्राप्त करने के लिए छत्तीसगढ़ शासन का पत्र श्री मदनमोहन गौशाला के रासबिहारी गुप्ता को प्राप्त हुआ। छत्तीसगढ़ राज्य अलंकरण समारोह 1 नवंबर को रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान में आयोजित किया गया जिसमें यह सम्मान गौशाला समिति के युवाओं ने प्राप्त किया। यह सम्मान खरसिया के लिए गौरव का विषय है। 2014 से 45 गौ भक्त युवाओं की टीम ने गौशाला की सेवा में अग्रणी भूमिका निभाते हुए कई तरह के उत्कृष्ट कार्य किये है जिसकी बदौलत पूरी तरह से सुसज्जित दिख रही। क्षेत्र के गौ भक्त किसी भी मंगल कार्य या ग्रह दोष निवारण के लिए गौशाला में सवामणि लगाव सकते है जैसे 701 ₹ में गुड़ की सवामणी 1100 ₹ में एक गाड़ी पैराकुटी 3100 ₹ एकदिवसीय चारा 7100 में एक गौ का वार्षिक चारा 11000 में इसी तरह और भी कई प्रकार से आप गौशाला में आकर दान कर सकते है।

Related Articles

Back to top button