Downlod GS24NEWS APP
छत्तीसगढ़

निः संतान दम्पत्तियों के लिये वरदान साबित हो रहा दादी सती हॉस्पिटल एवं मेटरनिटी सेंटर

दादी सती हॉस्पिटल के संचालक डॉ. छाया जायसवाल ने बताया की माता-पिता बनना जिन्दगी का परम सुख है परन्तु आज भी बहुत से लोग इससे वंचित है, उनके लिये दादी सती हॉस्पिटल जांजगीर वरदान साबित हो रहा है यहाँ स्त्री प्रसुति एवं निःसंतान रोग विशेषज्ञ डां. हेमेन्द्र जायसवाल के द्वारा निःसंतान दम्पत्तियों का जांच कर विशेष उपचार आई यू आई (IUI) के माध्यम से किया जाता है। डा हेमेन्द्र जायसवाल ने बताया की आई यू आई (IUI) एक ऐसी प्रक्रिया है जो कि पूर्णत नेचुरल है। इसमें महिलाओं के अण्डे बनने की बारिकियों से follicular study करके जिस दिन महिलाओं में अच्छे अण्डे तैयार होते हैं उसी दिन पुरुषों के अच्छे पानी वीर्य को महिलाओं के गर्भ के थैली में एक विशेष प्रकार के मशीन के माध्यम से पहुंचाया जाता है जिससे प्रेग्नेशी होने का उम्मीद बढ़ जाता है।

यह प्रक्रिया बहुत ही कम खर्च में हमारे हॉस्पिटल में उपलब्ध कराया जा रहा है । अतः जाजगीर के आस पास के निःसतान दम्पत्तियों को अन बाहर या अन्य शहर ईलाज के लिये जाने की आवश्यकता नहीं है।  हॉस्पिटल संचालक डा छाया जायसवाल ने बताया की गरीब परिवारों एवं एैसा कोई परिवार जिनके पास ईलाज के लिये सारी नहीं है उनका यह उपचार निःशुल्क भी किया जायेगा ताकि ऐसे परिवारों को जो माता पिता बनने का जो सपना है वह दादी सती हॉस्पिटल एवं मेटरनिटी सेंटर जाजगीर उनके सपने को पूरा करने में अपना योगदान दे सकें ।

Related Articles

Back to top button