Downlod GS24NEWS APP
छत्तीसगढ़

बाबा भीमराव अंबेडकर की तस्वीर के समक्ष वर-वधू ने खाई जनम- जनम तक साथ रहने की कसम…

बिलाईगढ़। बिलाईगढ़ विकासखंड में आज एक अनोखी शादी देखने को मिली। जहां वर-वधू ने बिलाईगढ़ कोर्ट में बाबा भीमराव अंबेडकर के सामने जनम- जनम तक साथ रहने की कसमें खाई और समाज को शादी में होने वाले फिजूल खर्च को रोकने का संदेश दिया। इनकी शादी को भीम रेजीमेंट के अध्यक्ष मनीष चेलक ने भी अपना समर्थन दिया। विवाह बिना किसी दान-दहेज, बिना किसी शोर-शराबे और बिना दिखावे के 20 मिनट में सादगीपूर्वक संपन्न हो गया। हम इस बात से इनकार नहीं कर सकते कि आजकल शादियों में दिखावा बहुत ज्यादा बढ़ गया है। इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि शादी हमेशा से धूमधाम से मनाया जाने वाला उत्सव रहा है। यह दो व्यक्तियों के अलावा दो परिवारों के बीच का बंधन है। लेकिन इस दो परिवार के बीच के बंधन को सादगी पूर्ण तरीके से भी बांधा जा सकता है। इसी बात का परिचय दिया बिलाईगढ़ विकासखंड के एक छोटे से गांव लुकापरा के रहने वाले भरत जांगड़े और ओडिशा के सरगीपाली की रहने वाली जय कुमारी के परिवार ने। दोनों परिवारों की सहमति से बाबा भीमराव अंबेडकर को साक्षी मानकर आज बिलाईगढ़ न्यायालय परिसर में दोनों ने जनम- जनम तक एक दूसरे के साथ रहने की कसमें खाईं और परिणय बंधन में बंध गए। वर- वधू ने कहा कि हम चाहते तो धूमधाम से लाखों खर्च कर अपना विवाह संपन्न करा सकते थे, लेकिन हमें सादगी पूर्ण विवाह पसंद आया और बिना किसी शोरगुल के हमने अपना विवाह रचाया। नव दंपति ने समाज के लोगों से अपील करते हुए शादी विवाह में फिजूल खर्च ना करने की भी अपील की है। वही इन दोनों की शादी क्षेत्र में चर्चा का विषय बना है और क्षेत्र के लोगों द्वारा इनकी इस विवाह की तारीफ भी किया जा रहा है।

Related Articles

Back to top button