छत्तीसगढ़

फिरौती के लिए डेढ़ वर्षीय बालक का अपहरण, अपचारी पकड़ा गया

चिरमिरी, कोरिया। एक 17 वर्षीय नाबालिग ने फिरौती के लिए घर में सो रहे डेढ़ वर्षीय मासूम का अपहरण कर लिया । पुलिस ने मासूम बालक को सकुशल बरामद कर अपचारी बालक को रिमांड पर लेकर किशोर न्यायलय में पेश किया ।

प्रार्थी वंश कुमार सिंह पिता शिवराम सिंह (32) निवासी माझापारा मझौली थाना खडगवां गुरुवार को रिपोर्ट दर्ज कराया कि बुधवार को पत्नी व बच्चे को लेकर मझौली बाजार गया था वहा से शाम करीब 7:30 बजे घर वापस आकर रात्रि का खाना खाकर पति-पत्नी व बच्चे के साथ अपने घर के अंदर में सो रहे थे। रात्रि करीब 12 बजे के लगभग घर की बिजली चली गई तब मै और मेरी पत्नी लाईट बनाने के लिए घर से बाहर निकले और लाईट बना कर फिर घर में आकर सोये कि पुन: लाईट कट हो गया दोबारा लाईट बनाने पति-पत्नी दोनो गये लाईट बनाकर वापस कमरे में आकर देखा तो सोया हुआ डेढ़ वर्षीय बेटा ध्रुव कुमार बिस्तर पर नहीं था कोई अज्ञात व्यक्ति घर में घुसकर उसका अपहरण कर ले गया है, आस-पास पता तलाश किया कोई पता नहीं चला ।

रार्थी की रिपोर्ट पर थाना खडगवां में अपराध धारा 457,363 ताहि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया । उक्त गुम बालक के पता साजी करने के लिए थाना प्रभारी खडगवां विजय सिंह द्वारा दो अलग अलग टीम गठित कर गुम बालक एवं आरोपी के पतासाजी के लिए रवाना किया गया ।

पता तलाश एवं घटना स्थल निरीक्षण दौरान संदेही नाबालिग से परिजनों के समक्ष बारिकी से पूछताछ किया गया जिस पर नाबालिग द्वारा अबोध बालक के मुंह में कपड़ा भर सेलो टेप से मुंह बंदकर एवं हाथ को सेलो टेप से बांधकर अपने काले रंग के जैकेट मे लपेट कर आंवराडाड़ के सूने जंगल मे सुलाकर रखना बताया । आरोपित ने बताया कि वंश कुमार से फोन पर 20-25 हजार रूपये फिरौती मांगता यदि बच्चे के बदले में मांगे गये रुपये वंश कुमार नहीं देता तो अपहरण किये हुए बच्चे को मार देता।

नाबालिग विधि विरुद्ध बालक के मेमोरेण्डम कथन के आधार पर अपहृत मासूम बालक को घटना के दो घंटे के भीतर सकुशल बरामद किया गया। विलम्ब होने की स्थिति में अबोध बालक के साथ कोई अनहोनी हो सकती थी । प्रकरण में प्राप्त साक्ष्य के आधार पर 307,364 भादवि जोड़ी गई। विधि विरुद्ध बालक के विरूद्ध अपराध घटित करना पाये जाने से रिमाण्ड तैयार कर किशोर न्यायालय भेजा गया है। कार्रवाई में उप निरीक्षक विजय सिंह थाना प्रभारी खड़गवा, प्रधान आरक्षक सुनील साहू, सुरेश तिग्गा, दिनेश साहू, सोमार साय पैकरा, उमेश मिंज, जशप्रीत सिंह, रमेश पाण्डेय, अनिल यादव, रवि शर्मा, धनंजय कुमार, विनोद सिंह, राजेश सिंह, सैनिक विनय श्याम, प्रमोद अशोक साहू, कुमार शामिल थे।

Related Articles

Back to top button