Downlod GS24NEWS APP
छत्तीसगढ़

कोरबा मेडिकल कॉलेज से लाखों की चोरी

जिले के ग्राम झगरहा में संचालित नव मान्यता प्राप्त मेडिकल कॉलेज सह आईटी कॉलेज परिसर से पिछली रात बड़ी चोरी हो गई। सुरक्षा को धता बताकर की गई चोरी ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। यहां हुई पहले की चोरियों में तो एफआईआर तक नहीं हुई है, चोर और माल का पकड़ा जाना तो दूर की बात है।

बताया जा रहा है कि 5-6 सितंबर की मध्य रात्रि करीब 2:30 बजे एकाएक मेडिकल कालेज सह आईटी कॉलेज और इसके आवासीय परिसर तथा कन्या व बालक छात्रावास की बिजली गुल हो गई। रात भर बिजली नहीं आई तो लोगों ने समझा कि कुछ फाल्ट की वजह से लाइन गुल हुई है। आज सुबह भी जब बिजली नहीं आई लेकिन आसपास के क्षेत्रों में बिजली थी तब छानबीन शुरू की गई। ज्ञात हुआ कि यहां सब स्टेशन से केबल काटकर बिजली आपूर्ति बाधित की गई। जब यहां आस-पास देखा गया तो लोगों की आंखें फटी की फटी रह गई। नव मान्यता प्राप्त कोरबा मेडिकल कॉलेज सह आईटी कॉलेज परिसर की सुरक्षा को धता बताते हुए पूर्व में बिजली सप्लाई के लिए लगाए गए हाईटेंशन लाइन के बड़े ट्रांसफार्मर को जमीन पर गिरा कर चोरी किया गया

बता दें कि करीब 4 महीने से यह ट्रांसफार्मर खराब होकर बंद पड़ा है।इसके सुधार हेतु आईटी कॉलेज प्रबंधन के पास पैसा नहीं है। अभी यहां मेडिकल कॉलेज को मान्यता मिल गई है और कॉलेज प्रबंधन के द्वारा संचालन किया जाना है जिसने उक्त ट्रांसफार्मर को बनवा लेने की बात कही। इसके लिए दोनों पक्ष से पत्राचार भी हुआ है लेकिन ट्रांसफार्मर आज तक नहीं बन सक। आईटी कालेज प्रबंधन द्वारा वैकल्पिक तौर पर सीएसईबी से एक दूसरा अस्थाई कनेक्शन लिया गया है जिसका कनेक्शन काटकर बंद पड़े ट्रांसफार्मर से चोरी की गई। स्ट्रक्चर पर खड़े इस ट्रांसफार्मर को अज्ञात चोरों ने खोल कर जमीन पर गिराया और इसके आयल को निकालकर भीतर मौजूद तांबा के तार एवं अन्य पार्ट्स को खोल कर पार कर दिया। चोरी गए तांबा की ही कीमत 3 से 4 लाख रुपये बताई जा रही है और पार्ट्स की कीमत अलग। जानकारों ने बताया कि यह ट्रांसफार्मर जब खरीदा गया था तब इसकी कीमत लगभग 10 लाख रुपए थी। चोरों की यह करतूत पता चलते ही सूचना रामपुर चौकी पुलिस को दी गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर आवश्यक छानबीन करते हुए चोरों का सुराग तलाशना आरंभ कर दिया है। मेडिकल कॉलेज परिसर से हुई चोरी में किसी जानकार का भी हाथ शामिल होने की चर्चा है जिसे यह पता था कि यह ट्रांसफार्मर बिगड़ा पड़ा है वरना चालू हालत में तो इसे हाथ लगाना मुमकिन ही नहीं। यह ट्रांसफार्मर मेडिकल कॉलेज के लिए काफी महत्वपूर्ण होता क्योंकि इसकी क्षमता काफी अधिक थी।

0 करीब 200 पंखे हो चुके हैं पार

यहां यह भी बता दें कि आईटी कॉलेज में पहले भी बड़ी-बड़ी दो चोरियां हो चुकी हैं लेकिन कोई भी मामला सुलझा नहीं है।।बताया जा रहा है कि यहां के बालक और बालिका हॉस्टल से अलग-अलग लगभग 200 की संख्या में पंखे चोरी किए जा चुके हैं। इसके अलावा अन्य उपकरणों को भी चोरों ने नुकसान पहुंचाया है। चोरियों की शिकायतें लिखित में पूर्व में पुलिस चौकी में देने की जानकारी दी जा रही है लेकिन यह बताया जा रहा है कि उन किसी भी मामलों में चोर तक पुलिस के हाथ नहीं पहुंचे हैं।

 

 

 

Related Articles

Back to top button