छत्तीसगढ़

ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे :वाराणसी पहुंची टीम को देखते ही हर-हर महादेव और अल्लाह-हू-अकबर के नारे लगे

वाराणसी में श्रीकाशी विश्वनाथ धाम-ज्ञानवापी मस्जिद में वीडियोग्राफी और सर्वे एक घंटे से चल रहा है। एडवोकेट कमिश्नर अजय कुमार मिश्र और वादी पक्ष के 18 लोग और प्रतिवादी पक्ष ज्ञानवापी पहुंचे हैं। इससे पहले टीम जब पहुंची तभी कुछ युवाओं ने हर-हर महादेव का उद्घोष किया। इस पर कुछ मुस्लिम युवकों ने भी अल्लाह-हू-अकबर के नारे लगाए। कुछ देर के लिए माहौल तनावपूर्ण हो गया। दुकानें भी बंद हो गईं। फिलहाल सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम हैं।

याचिका दाखिल करने वाली पांचों महिलाओं के अधिवक्ता दिल्ली के शिवम गौड़ ने बताया कि सर्वे पूरा होने में 3 दिन लग सकता है। सर्वे में सम्पूर्ण ज्ञानवापी मस्जिद परिसर और शृंगार गौरी शामिल है। ऐसे में इतने बड़े एरिया का सर्वे रविवार तक पूरा होने की संभावाना है

  • ज्ञानवापी के आसपास 1 किलोमीटर के दायरे की गलियों में भी पुलिस दंगा नियंत्रक उपकरणों के साथ लैस है। कमिश्नर ए सतीश गणेश ने बताया कि मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में गश्त बढ़ा दी गई है।
  • सर्वे को लेकर सोशल मीडिया पर धर्म आधारित आपत्तिजनक पोस्ट शेयर किए जा रहे हैं। पुलिस ने कहा है कि अराजक तत्वों को चिन्हित कर उनके खिलाफ हर हाल में कार्रवाई की जाएगी।
  • काशी विश्वनाथ मंदिर के ट्रस्टी बृज भूषण ओझा नारेबाजी पर कहा है कि जो लोग अदालत के आदेशों की अवहेलना कर रहे हैं, उन्हें साबित करना चाहिए कि वे भारतीय हैं या किसी अन्य देश के।
  • अयोध्या के तपस्वी छावनी पीठाधीश्वर जगद्गुरु परमहंसाचार्य ने कहा कि वीडियोग्राफी और सर्वे का काम शुरू हुआ है, लेकिन कुछ मुस्लिम विरोध कर रहे हैं। विरोध करने वाले लोगों पर कठोर कार्रवाई की जाए, ताकि वे दोबारा दुस्साहस न करें।
  • वाराणसी में श्रीकाशी विश्वनाथ धाम-ज्ञानवापी स्थित श्रृंगार गौरी और अन्य देव विग्रहों की वीडियोग्राफी और सर्वे से पहले हंगामा शुरू हो गया है। जुमे की नमाज के लिए अन्य दिनों की तुलना में अधिक लोग पहुंचे। नमाज के बाद कुछ शरारती तत्वों ने धार्मिक नारेबाजी कर माहौल बिगाड़ने का प्रयास किया। पुलिस और मुस्लिम समाज के संभ्रांत लोगों ने शरारती तत्वों को दूर भगाया है। ज्ञानवापी के आसपास गहमागहमी का माहौल है। आसपास की कुछ दुकानें भी बंद हो गई हैं। लोग दुकानों के भीतर से झांकते नजर आए।
  • वाराणसी कोर्ट के आदेश पर श्रीकाशी विश्वनाथ धाम-ज्ञानवापी स्थित शृंगार गौरी और अन्य देव विग्रहों की वीडियोग्राफी और सर्वे का काम हो रहा है। वीडियोग्राफी-फोटोग्राफी और सर्वे से संबंधित साक्ष्य को सुरक्षित स्थान पर पुलिस कमिश्नर रखवाएंगे।

    सर्वे से संबंधित रिपोर्ट 10 मई को अदालत में पेश की जाएगी। वहीं, इस सर्वे को लेकर वाराणसी कमिश्नरेट और वाराणसी ग्रामीण के सभी थानों की फोर्स के साथ ही लोकल इंटेलिजेंस यूनिट को अतिरिक्त सतर्कता बरतने के लिए कहा गया है।

  • ज्ञानवापी परिसर में वीडियोग्राफी को लेकर शुक्रवार सुबह से ही सुरक्षा बढ़ा दी गई। परिसर को होर्डिंग आदि से ढंक दिया गया है। मस्जिद में किसी को न घुसने देने की बात कहने वाले अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी के जॉइंट सेक्रेट्री एमएस यासीन ने मीडिया से बात करने से मना कर दिया है। उनका कहना है कि स्वास्थ्य ठीक नहीं है। उधर, दोपहर में एक महिला श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर के गेट नम्बर 4 पर नमाज पढ़ने लगी। यह देखकर पुलिस हरकत में आई और महिला को हिरासत में लिया गया।

Related Articles

Back to top button