Downlod GS24NEWS APP
छत्तीसगढ़

काम अधूरा होने से लोग परेशान:गुंजन नाला पुल 2 साल से अधूरा, 50 हजार लोगों को तय करनी पड़ रही 22 किमी दूरी

कोरबा. दक्षिण-पश्चिम मानसून अगले सप्ताह तक सक्रिय हो जाएगा, लेकिन पुल-पुलियों के निर्माण में देरी की वजह से लोगों को इस बारिश में भी परेशानी के बीच आवाजाही करनी पड़ेगी। पाली से पोड़ी सिल्ली मार्ग पर 2 साल से बन रहे गुंजन नाला पुल का काम अधूरा होने से 50 हजार आबादी को 18 से 22 किलोमीटर का फेरा लगाना पड़ेगा। उरगा चांपा नेशनल हाईवे पर भी पुल अधूरे हैं। ब्लॉक और जिला मुख्यालय को जोड़ने वाली सड़कों में भी बाढ़ के हालात बनेंगे।

कटघोरा से पाली के बीच लोग सड़क खराब होने से 4 साल से परेशान थे। अब नेशनल हाईवे फोरलेन सड़क का काम शुरू होने और पुरानी सड़कों की मरम्मत से राहत मिल रही है। लेकिन पाली ब्लॉक मुख्यालय से पोड़ी दिल्ली तक बन रही सड़क के बीच पुलिया का काम अधूरा होने से लोग परेशान हैं।

यह पुलिया बारिश में बह गया था। इसकी वजह से 2 साल से नया पुल का काम चल रहा है। अभी 30 प्रतिशत काम बाकी है। जिसकी गति धीमी होने से बारिश के पहले काम पूरा होना मुश्किल है। यह सड़क रतनपुर और पेंड्रा को भी जोड़ती है।

पुल के नहीं बनने से बारिश के समय ब्लॉक और जिला मुख्यालय आने के लिए लोगों को लाफा की ओर से 22 किलोमीटर और नगोई भादा की ओर से 18 किलोमीटर दूरी पड़ती है। अगर पुल बन जाता है तो मात्र 8 किलोमीटर दूरी है। यही हाल उरगा चांपा नेशनल हाईवे की है। पानी निकासी के लिए पुल को शुरू करना जरूरी है। अगर पानी निकासी नहीं हुई तो एप्रोच रोड भी बह जाएगा। इससे और परेशानी होगी।

पाली से सिल्ली तक सड़क की लागत 53 करोड़
पाली से सिल्ली के बीच 21 किलोमीटर लंबी सड़क का निर्माण 53 करोड़ में कराया जा रहा है। इसमें गुंजननाला पर एक बड़ा पुल, 5 मध्यम और 64 पाइप स्लैब वाला पुल का निर्माण हो रहा है। निर्माण कार्य इसी महीने पूरा हो जाना था। काम फरवरी में पूरा होना था, लेकिन अभी भी अधूरा है। इस वजह से राहगीरों को परेशानी हो रही है।

इन पंचायतों के लोगों को सबसे अधिक परेशानी
पाली ब्लॉक के 12 से अधिक पंचायत के साथ ही बिलासपुर और पेंड्रा क्षेत्र के दर्जनों गांव के लोगों को आवाजाही में परेशानी हो रही है। ग्राम पंचायत पोड़ी, बतरा, लबदा , पोलमी, तिलहा ,निरधि, धावा ,सिल्ली, परसदा, शिवपुर , नवापारा, कोड़ार के लोगों को छोटे छोटे काम के लिए भी अधिक दूरी तय करनी पड़ेगी।

उरगा चांपा फोरलेन सड़क पर बन रहे 13 पुल- पुलिया
उरगा चांपा नेशनल हाईवे फोरलेन सड़क पर काम तेजी से चल रहा है। इसके बीच में तेरा छोटे बड़े पुल पुलिया हैं। जहां से बारिश के समय पानी की निकासी होती है। निर्माण कार्य करने किनारे में डायवर्सन रोड बनाया गया है। अगर पुल पर आवाजाही शुरू नहीं हुई तो यह भी बारिश के समय बह सकता है। इससे लोगों को परेशानी हो सकती है।

आवाजाही में परेशानी ना हो इसका कर रहे प्रयास
नेशनल हाईवे अथॉरिटी के परियोजना निदेशक वायबी सिंह का कहना है कि पुलों का काम और तेजी से करा रहे हैं। बारिश के समय आवाजाही के लिए क्या किया जा सकता है इस पर विचार किया जा रहा है। लोगों को आवाजाही में परेशानी ना हो यही प्रयास है।

Related Articles

Back to top button