देश-विदेश

ज्ञानवापी के शिवलिंग की पूजा करेंगे संत:स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद बोले- शंकराचार्य के आदेश का होगा पालन; 4 जून को ज्ञानवापी पहुंचेंगे

संत समाज शनिवार 4 जून को भगवान आदि विश्वेश्वर की आराधना शुरू करने ज्ञानवापी जाएगा। यह घोषणा गुरुवार को वाराणसी के केदार घाट स्थित विद्या मठ में स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने की। उनकी घोषणा की जानकारी मिलते ही पुलिस-प्रशासन परेशान हो गया है। हालांकि अफसरों ने अभी कुछ भी कहने से इंकार किया है।

बीते दिनों ज्योतिष और द्वारिका शारदा पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाराज ने बड़ा बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि ज्ञानवापी में प्रकट हुए भगवान आदि विश्वेश्वर की आराधना शुरू कराओ।

शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती सनातन धर्म के सबसे बड़े आचार्य हैं। इसके अलावा धर्म की नजर से काशी उत्तर क्षेत्र में आती है। शंकराचार्य महाराज ही इस उत्तर क्षेत्र के सबसे प्रमुख धर्मगुरु हैं। यही वजह है कि उनके आदेश के बाद संत समाज जोश में है।

Related Articles

Back to top button