छत्तीसगढ़

*राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत जन्मजात विकृति से ग्रसित बच्चों का सफल उपचार, जिले में 350 बच्चों का हुआ स्वास्थ्य परीक्षण*

जांजगीर-चांपा 12 अगस्त 2022/राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत कलेक्टर महोदय के मार्गदर्शन एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आर. के. सिंह के निर्देश पर विगत तीन माह में तीन मेगा स्वास्थ्य शिविर का आयोजन जिले में किया गया था। शिविर में रायपुर से विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम तथा जिला में उपलब्धि विशेषज्ञों द्वारा करीबन 350 बच्चों का स्वास्थ्य जांच किया गया।
जांच के दौरान 50 से अधिक बच्चों का इको काडियोग्राफी (जन्म जात हृदय रोग संबंधी जांच) किया गया, जिनमें से 12 बच्चें जन्म जात हृदय रोग से ग्रसिब बच्चे पाए गए, जिनमें से 11 बच्चों का उपचार रायपुर तथा उच्च संस्थानों से शासन द्वारा कराया गया। उपचार के उपरांत बच्चे स्वस्थ्य होकर अपने घर लौट चुके है। 12 में से 01 बच्चे का उपचार वर्तमान में रायपुर में चल रहा है। शिविर में अन्य बिमारी जैसे कटे-फटे होट, अस्थि संबंधित रोग तथा बच्चो में दांत संबंधित बिमारियों का भी उपचार किया गया।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आर. के. सिंहने जिलेवासियों से अपील की है कि जन्मजात विकृति से संबंधित बिमारियों वाले बच्चों केलिए जिले में सभी शासकीय स्वास्थ्य संस्थाओं में पहुंचकर निःशुल्क जांच कराए।

Related Articles

Back to top button