Downlod GS24NEWS APP
छत्तीसगढ़

बीच-बचाव के लिए पहुंचे डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ को आरोपियों ने दौड़ाया, कमरे में बन्द कर बचाई अपनी जान…

कोरबा। रानी धनराज कुंवर अस्पताल में आज सुबह उस समय दहशत फैल गई, जब इलाज कराने आए एक घायल युवक पर कुछ लोगों ने लाठी-डंडों से हमला कर दिया. बीच-बचाव के लिए पहुंची नर्सों के साथ अन्य स्टाफ को भी बदमाश मारने पर उतारु हो गए. नर्सों और अन्य स्टाफ ने एक कमरे में खुद को बंद कर अपनी जान बचाई. बदमाशों की यह सारी करतूत अस्पताल में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई.

बताया जाता है कि पुरानी बस्ती निवासी मुन्ना यादव और शफीक खान पुराना बस स्टैंड में दलाली का काम करते हैं. इनके मध्य किसी बात को लेकर विवाद हो गया पहले तो दोनों गुट पुरानी बस्ती में एक दूसरे पर प्रहार करते रहे वहां से फिर बस स्टैंड आ गए. यहां भी मारपीट हुई मारपीट में घायल सफीक खान धनराज कुंवर हॉस्पिटल पहुंचा वहां उसका इलाज शुरू ही हुआ था, तभी मुन्ना यादव अपने दो साथियों के साथ अस्पताल में घुसा और लाठी डंडे से घायल पर आक्रमण कर दिया. इस दौरान अस्पताल की नर्सों और अन्य स्टाफ ने हस्तक्षेप किया तो उन्हें भी मारने के लिए दौड़ाया गया. घबराकर सभी एक कमरे में बंद हो गए.

मारपीट की जानकारी मिलने पर डॉक्टर दीपक राज भागते-भागते अस्पताल पहुंचे. घायल पर हमला करने से रोकने पर आरोपियों ने डॉ. राज को भी धमकी दे डाली. घबराकर डॉक्टर ने भी अपने कमरे में जाकर अंदर से बंद कर लिया, और फिर 112 को सूचना दिया. 112 की दो टीमें जिस समय अस्पताल पहुंची, तब भी घायल को मुन्ना यादव और उसके साथी पीट ही रहे थे. पुलिसकर्मियों ने चिकित्सक और नर्सों को कमरे से बाहर निकालने का प्रयत्न प्रारंभ किया, इसी बीच मुन्ना यादव और उसके साथीं वहां से फरार हो गए.

Related Articles

Back to top button