Downlod GS24NEWS APP
छत्तीसगढ़

खजाना खोजने निकला बुजुर्ग लौटा ही नहीं:पारस पत्थर खोजने पहुंचे लोगों ने उसका ही घर खोद डाला, कुछ नहीं मिला तो पैसे लेकर भाग निकले

जांजगीर-चांपा जिले में एक बुजुर्ग खजाना खोजने की बात कहकर घर से निकला तो लौटा ही नहीं है। पिछले 2 दिनों से उसका कुछ पता नहीं चल रहा है। इधर, उसके जाने के बाद कुछ लोग उसके घर पहुंच गए और पारस पत्थर( ऐसा पत्थर जो किसी लोहे को छू दे तो वह सोना बन जाए) की तलाश करने लगे। उसकी तलाश में लोगों ने बुजुर्ग का घर ही पूरा खोद दिया। इसके बावजूद उन्हें कुछ नहीं मिला तो घर में रखे पैसे लेकर ही वे लोग भाग निकले। मामला कोतवाली थाना क्षेत्र का है।

मुनुंद गांव निवासी बाबू लाल यादव(70) गांव में झाड़ फूंक का काम करता है। वो ये भी दावा करता है कि वह खजाना खोजकर निकाल देगा। बताया गया कि 8 जुलाई को कुछ लोग उसके घर आए थे। उससे कहा था कि चलो खजाना निकालने जाना है। इसके बाद सभी लोग खजाना की तलाश करने निकल गए थे। लेकिन जान के दो दिन बाद भी उसका कुछ पता नहीं चला है। जिसके बाद अब उसकी पत्नी रामवती यादव ने मामले में शिकायत की है। तब ये पूरा मामला पता चला है।

इस मामले में ये भी पता चला है कि कुछ लोगों के साथ पारस पत्थर को लेकर भी बाबू लाल का विवाद चल रहा था। पारस पत्थर के बारे में ऐसा कहा जाता है कि यदि ये लोहे को भी छू दे तो वह सोना बन जाता है। बाबू लाल की पत्नी ने बताया है कि जिस दिन वह घर से गया था। उसके अगले दिन कुछ लोग उसके घर आए और बोले हमें पारस पत्थर चाहिए। फिर घर के अलग-अलग कमरों में वे लोग घुस गए और जमीन खोदने लगे। उन्होंने रामवती का मुंह बांध दिया था। काफी जगह से घर में खुदाई की गई। फिर भी उन्हें घर में कुछ नहीं मिला। जिसके बाद उन्होंने घर में रखे 23 हजार कैश और जेवर ही उठा ले गए।

आशंका है कि जो लोग घर में घुसे थे, वे वही लोग हैं जिनका बाबू लाल से विवाद चल रहा था। महिला ने बताया है कि उसका बेटा कहीं और रहता है। जिस वक्त वो लोग आए। घर पर उसके अलावा कोई और नहीं था। पुलिस ने दोनों ही मामले में शिकायत दर्ज की है। फिलहाल मामले में जांच जारी है।

Related Articles

Back to top button