Downlod GS24NEWS APP
छत्तीसगढ़

पुलिस अधीक्षक द्वारा जिले के सभी राजपत्रित अधिकारियों / थाना/ चौकी प्रभारियों की समीक्षा बैठक ली गई

बैठक में मुख्य रूप से पीड़ित क्षतिपूर्ति योजना 2011 एवं 2018 के आश्रित को क्षतिपूर्ति दिलाने लंबित प्रकरणं जैसे हत्या, सामूहिक दुष्कर्म, अप्राकृतिक यौन उत्पीड़न, एसिड अटैेक, पाक्सो एक्ट जैसे प्रकरणों में विधिक सेवा प्राधिकरण को इस कार्यालय के माध्यम से भेजने हेतु निर्देशित किया ताकि पीड़ित पक्ष को क्षतिपूर्ति राशि दिलाई जा सकें।
             ITSSO पोर्टल जिसमें धारा 376 भादवि, पाक्सो एक्ट के प्रकरणों में धारा 173(1) (क) के प्रावधानानुसार 60 दिवस के भीतर माननीय न्यायालय में चालान प्रस्तुत करने एवं लंबित 60 दिवस से अधिक अवधि के प्रकरणों में सतत् विवेचना कर धारा 173(8) के तहत् अनुमति प्राप्त करने हेतु निर्देशित किया गया।
            दिनांक 26 एवं 27.08.22 को जुआ एवं सट्टा अधिनियम के तहत् कार्यवाही करने सभी थाना/चौकी प्रभारियों को निर्देशित किया गया था जिनमें 11 प्रकरण सार्वजनिक जुआ एक्ट एवं 12 प्रकरणों में सट्टा एक्ट के तहत् कार्यवाही की गई। थाना प्रभारी पामगढ़, शिवरीनारायण, हसौद, चंद्रपुर द्वारा कार्यवाही नहीं करने पर कड़ी फटकार लगाई गई।
        वरिष्ठ कार्यालय से प्राप्त होने वाले शिकायतों का निराकरण करने में रूची नहीं लेने वाले थाना प्रभारी जांजगीर एवं डभरा को विशेष अभियान चलाकर शिकायत पत्रों का निराकरण 05 दिवस के अंदर करने हेतु निर्देशित किया गया।
     बैठक में अनिल सोनी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, श्री निकोलस खलखो उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय, श्री मोहम्मद तसलीम आरिफ, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस सक्ती श्री भवानी शंकर खूंटिया, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस डभरा, श्रीमती सविता दास वैष्णव उप पुलिस अधीक्षक अजाक, श्री लीला शंकर कश्यप अनुविभागीय अधिकारी पुलिस चांपा, श्री संदीप मित्तल उप पुलिस अधीक्षक यातायात एवं सभी थाना/ चौकी प्रभारी उपस्थित रहे

Related Articles

Back to top button