Downlod GS24NEWS APP
छत्तीसगढ़

कमजोर नेटवर्क की समस्या दूर करने छत्‍तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सहित इन जिलों में लगेंगे नए मोबाइल टावर

रायपुर  केंद्र सरकार के संचार मंत्रालय ने प्रदेश के हर गांव को 4जी सेवा से जोड़ने के लिए पहल शुरू कर दी है। संचार सेवा के क्षेत्र में छत्तीसगढ़ के अलग-अलग जिलों के लिए सबसे बड़ा प्रोजेक्ट माना जा रहा है। नक्सल प्रभावित 14 जिलों के अलावा 10 आकांक्षी जिलों में 600 करोड़ की लागत से 699 मोबाइल टावर की स्थापना होगी। इनमें बस्तर, बीजापुर, दक्षिण बस्तर, कोंडागांव, कोरबा, महासमुंद, नारायणपुर, राजनांदगांव, सुकमा, उत्तर बस्तर (कांकेर) शामिल हैं। संचार राज्यमंत्री देवुसिंह चौहान ने हाल ही में सामाजिक न्याय पखवाड़ा के अंतर्गत छत्तीसगढ़ का दौरा किया है। इसमें वे 2 दिन के लिए रायपुर और दंतेवाड़ा प्रवास पर थे। इस दौरान नक्सल प्रभावित जिलों में कमजोर मोबाइल नेटवर्क की बात प्रमुखता से उठी।
उन्होंने समीक्षा बैठक में विभिन्न् परियोजनाओं की प्रगति का जायजा भी लिया। राजधानी स्थित दूरसंचार निगरानी प्रकोष्ठ विभाग के अधिकारियों ने बताया कि प्रोजेक्ट को अक्टूूबर 2023 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। संचार राज्यमंत्री ने बताया कि डाक विभाग ने आकांक्षी जिलों में नक्सल प्रभावित जिलों में 391 नए डाकघर शाखा खोले हैं, जो कि ग्रामीण क्षेत्र में डाक विभाग की विभिन्ना सुविधाएं उपलब्ध कराएंगे। बैठक में अधिकारियों ने बताया कि डाक पेमेंट बैंक के लगभग 6.28 लाख खाताधारी हैं, जो कि वित्तीय समावेश को बढ़ावा देते हैं। बीते 3 वर्षोे में 3 लाख से अधिक नए खाते सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खोले गए हैं।
राजधानी स्थित दूरसंचार विभाग के उपमहानिदेशक आरके गढ़वाल व निदेशक नीरेश शर्मा ने बताया कि छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित और अन्य जिलों के लिए प्रोजेक्ट यह मील का पत्थर साबित होगा। प्रदेश में 2.43 करोड़ मोबाइल उपभोक्ता है, वहीं अब तक प्रदेश में 32 हजार 480 बीटीएस लगाया गया है।

Related Articles

Back to top button